Sunday, August 7

anupam kher

Film Review | Naam Shabana
akshay kumar, anupam kher, entertainment, film-review, tapsi pannu, अक्षय कुमार, तापसी पन्नू, नाम शबाना, फि‍ल्‍म समीक्षा

Film Review | Naam Shabana

नाम शबाना: नाम बड़े और दर्शन छोटेदीप जगदीप सिंह | रेटिंग 1.5/5देश की ख़ूफिया ऐजंसियों में जासूस कैसे चुने जाते हैं, उन्हें कैसे परशिक्षण से गुज़रना पड़ता है, उनकी ज़िंदगी कैसे गुमनामी की मौत मरती है और कैसे वह अपने देश के लिए अपने आप और अपने परिवार के लिए भी बेगाने हो जाते हैं,   अगर आप यह सब जानना चाहते हैं तो नाम शबाना देखी जा सकती है, लेकिन अगर आप एक अर्थपूर्ण सधी हुई फिल्म देखने जाएंगे तो आप को निराशा हो सकती है। क्यों? आईए बताते हैं-शबाना ख़ान (तापसी पन्नू) एक ज़िद्दी, मज़बूत और आत्म-सम्मान वाली मध्यम वर्गीय लड़की है जो काॅलेज में पड़ती है और अपनी विधवा मां के साथ रहती है। उसके चेहरे पर हमेशा सख़्त हाव-भाव रहते हैं और वह अपनी पढ़ाई और कराटे की ट्रेनिंग पर पूरा ध्यान लगाए रखती है। जय (ताहिर शब्बीर मिठाईवाला) उसका दोस्त व बाईक ड्राइवर है जो उससे प्यार करता है, उसके नखरे झेलता है औ...
anupam kher, bollywood, entertainment, film-review, salman khan, sonam kapoor

Film Review । प्रेम रत्न धन खोयो !

दीप जगदीप सिंहसलमान ख़ान जैसा बड़ा सितारा, सूरज बड़जात्या जैसा नामचीन निर्देशक, हॉलीवुड की धड़ल्लेदार निर्माता कंपनी फॉक्स स्टार, कभी सबसे भद्दे फैशन के लिए चर्चित हुई सोनम कपूर जो अब अपनी पीआर के दम पर फैशन दीवा है, पिटा हुआ ग्रे शेड कलाकार नील नीतिन मुकेश, खुद का ‘जानी दुशमन’ अरमान कोहली, दर्जन के करीब ठूंसे हुए गाने, राजस्थान के ऐतिहासिक महल, अयोध्या के घाट और मंडप, कुछ चुलबुले वन लाईनर, कुठ भावुक संवाद, अनंत रंग, विहंगम दृश्य, यूपी-बिहार की बोली का तड़का, एक और सलमान ख़ान (अरे डबल रोल है ना!) नो फैमिली, जस्ट फैब्रिकेटेड इमोशन एंड ड्रामा, लाईन चाहे फिल्म की अवधी जितनी लंबी है, लेकिन एक ही लाईन में बताना तो हो बस यही है प्रेम रत्न धन खोयो ओह! आई मीन पायो…Film Review | Salman Khan | Sonam Kapoor | Prem Rattan Dhan Payoप्रेम दिलवाला (सलामन ख़ान) अध्योध्या में अपनी नाटक मंडली चलाता, रामलीला...