fan film review

entertainment, fan film review, film-review, shahrukh khan, फि‍ल्‍म समीक्षा

Film Review | फैन

बस फैन्स के लिए ही है फैनदीप जगदीप सिंहरेटिंग 2.5 5“फैन बस फैन होता है, लेकिन तुम नहीं समझोगे”, फिल्म का यह केंद्रीय संवाद फिल्म के लेखक और निर्देशक को बताने के लिए काफी है कि फैन बनते नहीं कमाए जाते हैं। फैन और सूपर स्टार के आपसी टकराव की कहानी “फैन” इस मामले में निराश करती है, क्योंकि फिल्म में ज़ब्रदस्त मसाला होने के बावजूद वो आत्मीयता नहीं है जो एक फैन और सूपर स्टार में होती है।   गौरव चानणा (शाहरूख खान) पश्चिमी दिल्ली में रहने वाला 25 साल का एक साधारण लड़का और फिल्म स्टार आर्यन खन्ना (शाहरूख खान) का सूपर फैन है, जिसकी सूरत भी काफी हद तक आर्यन से मिलती है। कालोनी में हर साल दहशरे के मेले में होने वाले एक्टिंग कंपीटीशन में वह आर्यन खन्ना के सदाबहार अंदाज़ और संवादों की एक्टिंग करके ट्राफी जीत लेता है। इस बार मिले इनाम के पैसों से वह अपने फेवरेट सूपर स्टार से मिलने मुंबई जाता है बिल...